Start Tracking

Recent tweets for "परपीडनम्"

RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
1,348 followers     Rajasthan India     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
218 followers     Madhya Pradesh, India     Reply Retweet Favorite
अष्टादस पुराणेषु व्यासस्य वचनं द्वयम् । परोपकारः पुण्याय पापाय परपीडनम् ॥ https://t.co/oougtkNYPC
0 followers     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
387 followers     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
282 followers     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
291 followers     Muzaffar pur Bihar     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
754 followers     शुजालपुर, भारत     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
438 followers     Blue Earth, MN     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
2,973 followers     Reply Retweet Favorite
RT @sssevasansthanm: @anshum02 परोपकारः पुण्याय पापाय परपीडनम्
6,339 followers     प्रभु श्री राम के चरणों में     Reply Retweet Favorite
@anshum02 परोपकारः पुण्याय पापाय परपीडनम्
206 followers     संस्कृतसदनम् अहमदाबाद गुजरात     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
2,217 followers     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
223 followers     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
4,897 followers     Lucknow, / prayagraj India     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
2,778 followers     Jabalpur MP     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
65 followers     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
9,859 followers     Mahadev ke Charno me🙏     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
34 followers     Punya Bhoomi     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
196 followers     karnal     Reply Retweet Favorite
RT @swamisandeepani: परोपकार के लिए वृक्ष फल देते हैं, नदीयाँ परोपकार के लिए ही बहती हैं और गाय परोपकार के लिए दूध देती हैं अर्थात् यह श… https://t.co/F3GTUBPCGm
34,116 followers     आर्यावर्त     Reply Retweet Favorite